सलमान के बाद इस बॉलीवुड अभिनेता को हुई 6 महीने की जेल साथ ही लगा 1.60 करोड़ का जुर्माना

बॉलीवुड अभिनेता राजपाल यादव व पत्नी राधा राजपाल यादव और उनकी कंपनी को चेक बाउंस के सात मामलों में सोमवार (23 अप्रैल) को सजा सुनाई गयी। 15 अप्रैल को हुई सुनवाई में दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट के अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश अमित अरोड़ा ने फिल्म बनाने के नाम पर पांच करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में उन्हें शुक्रवार को दोषी करार दिया था।

एक्टर राजपाल यादव को दिल्ली के कड़कड़डूमा कोर्ट ने चेक बाउंस मामले में 6 महीने की जेल की सजा सुनाई और 1.6 करोड़ रुपयों का जुर्माना भी देना होगा। बता दें कि राजपाल यादव और उनकी पत्नी राधा राजपाल यादव और उनकी कंपनी के खिलाफ चेक बाउंस के सात मामलों में आज फैसला सुनाया गया है।

बता दें कि 15 अप्रैल को हुई सुनवाई में कड़कड़डूमा कोर्ट के अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश अमित अरोड़ा ने फिल्म बनाने के नाम पर 5 करोड़ रुपयों की धोखाधड़ी के मामले में उन्हें शुक्रवार को दोषी करार दिया था। सोमवार को इसी मामले की सुनवाई हुई, कोर्ट ने उनको राहत ना देते हुए 6 महीने की जेल की सजा सुनाई है।

Also Read: बड़े बदतमीज है ये फ़िल्मी सितारे, लोगो के साथ पब्लिक में कर चुके है बदतमीजी

आप को बता दे की चेक बाउंस मामले में बॉलीवुड अभिनेता राजपाल यादव को दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट ने 6 महीने की जेल की सजा सुनाई है। हालांकि, उन्हें कोर्ट से जमानत भी मिल गई है। राजपाल यादव को साढ़े तीन लाख रुपये के निजी मुचलके पर कड़कड़डूमा कोर्ट से जमानत मिली है।बता दें कि राजपाल यादव और उनकी पत्नी राधा राजपाल यादव और उनकी कंपनी के खिलाफ चेक बाउंस के सात मामलों में सोमवार को कड़कड़डूमा कोर्ट ने फैसला सुनाया है।

फैसले के मुताबिक, कुल सात चेक बाउंस हुए हैं। ऐसे में प्रति चेक 1.6 करोड़ रुपये का हर्जाना भी देने का भी निर्देश कोर्ट ने दिया है। इससे पहले 15 अप्रैल को हुई सुनवाई में दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट के अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश अमित अरोड़ा ने फिल्म बनाने के नाम पर पांच करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के मामले में उन्हें दोषी करार दिया था।

खबरों के अनुसार इस मामले में राजपाल यादव को कोर्ट में पेश होने के लिए कई समन भी भेजे गए, लेकिन वह एक बार भी कोर्ट नहीं पहुंचे। उनके वकील ने भी कोर्ट में गलत हलफनामा पेश किया था। बता दें कि इसी मामले में 2013 में राजपाल यादव को 10 दिन की न्यायिक हिरासत में भी भेजा गया था।

15 अप्रैल को अतिरिक्त मुख्य न्यायाधीश अमित अरोड़ा ने अपने फैसले में कहा था शिकायतकर्ता ने आरोपितों को पैसे उधार दिए थे, न कि इन्वेस्टमेंट करने के लिए। आरोपितों ने खुद यह बात भी स्वीकार की है कि संबंधित चेक उनके खाते से जुड़े हैं और चेक पर हस्ताक्षर भी उन्हीं के हैं।

Also Read: मिलिए एबी डीविलियर्स की खूबसूरत पत्नी से

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *